Blog Archive

Bookmark Us!


ब्लॉग आज दस वर्ष का हो गया है. एक दशक पहले इसी दिन ब्लॉग से दुनिया परिचित हुई. यह जॉन बर्गर का चलताऊ टर्म था- 'Weblog'. पीटर मेहौज ने इसे We+Blog में परिवर्तित कर दिया. कालांतर में यह Blog के रूप में हमारे सामने है.

विलियम्स ने इसका सोफ्टवेयर डेवलप किया. यह पहले Text-Based था. तस्वीर, विडियो ब्लॉग पर उपलब्ध नहीं था. ब्लॉग के स्वरुप में, लगातार परिवर्तन होता रहा. Photoblog, Moblog (Mobile Blog), Viblog (Vedeo-Blog) का भी स्वरुप सामने आया. 2001 में पहला ब्लॉग पोस्टिंग हुआ.

ब्लॉग अपने दस वर्ष के अल्पकाल में अभिव्यक्ति का सशक्त माध्यम बन चुका है.
व्यक्ति स्वतंत्रता के इस उछाल में ब्लॉग भी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अतिरेक में जा फंसा. जो कुछ कहना है, वह कह डालना है. ब्लॉग पर खर्च हो रहा वक़्त, किसी विमर्श को जन्म देने में भले ही असफल रहा हो, पर मन के कोने में उमड़ती-घुमड़ती संवेदनाओं को ब्लॉग पर जबरदस्त स्पेस मिला.

ब्लॉग के दस वर्ष पूरे होने पर आपको 'निर्माण संवाद' की ओर से हार्दिक शुभकामनाएं. ब्लॉग के दशक पूरा होने के साथ ही 'निर्माण संवाद' ने अपनी पोस्टिंग का शतक पार किया है. लेखों के इस शतकीय प्रहार ने बड़े पैमाने पर आप पाठकों को अपना भी बनाया है, और कुछ को अनचाहा दुःख भी दिया है. 'निर्माण संवाद', 'मत-भिन्नता' को आदर देता है, पर 'मन-भिन्नता' का पक्षधर नहीं. 'शाश्त्रार्थ' और 'शश्त्रार्थ' का अर्थ आप सुधी पाठक तो समझते ही हैं.

आपका गीत और आपकी गालियाँ प्रार्थनीय हैं. भारतीय संस्कृति में वक़्त पर दी हुई गालियाँ भी गीत बन जाती हैं. शादी में समधी को कितनी गालियाँ दी जाती हैं, आपको पता ही है.
अकारण गाये गीत भी कभी-कभी गाली बन जाते हैं. शादी ना सही, संवाद ही सही, आपकी गाली कतई बुरी नहीं लगती. आप अपना पुरस्कार समय-समय पर देते रहे, स्वागत है.

ब्लॉग पर मुझ जैसे कमीनो का होना भी जरूरी है. आपकी शराफत भी तो आखिर इसी कमीने के सापेक्ष में है. आप विद्वान भी तभी तक हैं, जब तक कि मुझ जैसा बेवकूफ जिन्दा है. मैं भी बेहतर बेवकूफों को तलाशने और तराशने में लगा हूँ, ताकि मेरी होशियारी स्थापित हो सके.

ब्लॉग के जन्मदिवस पर शुभकामनायें...
ब्लॉग आम-आवाम की आशा की किरण बने और इसकी वाणी सत्ता के गलियारे में भी गूंजे, इसकी आशा है.


हमारा शतक:
जून :-


जुलाई :-

Reactions: 

4 Response to "ब्लॉग के दशक पर निर्माण संवाद का शतक, शुभकामनाएं..."

  1. Anand Said,

    नयी बात...
    ब्लॉग को तो जानता था, लेकिन ब्लॉग का इतिहास पहली बार पता चला है...
    दस वर्षीय ब्लॉग को मेरी भी शुभकामनाएं..
    और साथ ही लेखों का शतक पूरा होने पर आपके 'निर्माण संवाद' को भी हार्दिक बधाई.....
    आपसे 'शतकों के शतक' की अपेक्षा है..

     

  2. मेरी शुभकामनाऐं भी पहुँचें.

     

  3. Nidhi Sharma Said,

    nirman samvad ne kai sawalon ko janm diya.......
    blog jagat mein apni sakriya bhagedari se bauddhik jagat mein thodi halchalein to paida ki hi hain....
    aap likhte rahein...bolte rahein,
    nakkarkhane me tuti ki awaj bhi suni jayegi...

    shubhkamnayein........

     

  4. समर्थन और शुभकामना के लिए धन्यवाद.
    'निर्माण संवाद', सृजन के अपने प्रयास में लगा रहेगा..
    और इस प्रयास में सभी सुधी पाठकों का सहयोग अपेक्षित है...

     

चिट्ठी आई है...

व्‍यक्तिगत शिकायतों और सुझावों का स्वागत है
निर्माण संवाद के लेख E-mail द्वारा प्राप्‍त करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

सुधी पाठकों की टिप्पणियां



पाश ने कहा है कि -'इस दौर की सबसे बड़ी त्रासदी होगी, सपनों का मर जाना। यह पीढ़ी सपने देखना छोड़ रही है। एक याचक की छवि बनती दिखती है। स्‍वमेव-मृगेन्‍द्रता का भाव खत्‍म हो चुका है।'
****************************************** गूगल सर्च सुविधा उपलब्ध यहाँ उपलब्ध है: ****************************************** हिन्‍दी लिखना चाहते हैं, यहॉं आप हिन्‍दी में लिख सकते हैं..

*************************************** www.blogvani.com counter

Followers