Blog Archive

Bookmark Us!

ना मालूम कोई ऐसा भी होता होगा...

Posted by AMIT TIWARI 'Sangharsh' On 8/25/2009 07:15:00 AM


ना मालूम कोई ऐसा
भी होता होगा,
जो हर किसी के दर्द
में रोता होगा.

आँख भरती होगी,
हर ख़ुशी पर उसकी,
औरों की आँखों में
जो सोता होगा.

होगा कोई तो, जो
दुनिया से जुदा होगा.
इंसानों की दुनिया में
कोई तो खुदा होगा.

वो, जिसके हर लफ्ज
में बजता सितार हो,
वो, जिसके कदमों में
जहाँ की बहार हो,

जिसके हर अंदाज़ में
बस, प्यार-प्यार हो,
सारा जहां जिसकी
खातिर खुमार हो...

कोई तो मेरे ख्वाब
सा खुशनुमा होगा,
खुशियों की जो जमीं
और आसमां होगा,

'संघर्ष' मेरे दर्द में
कोई तो रोता होगा..
ना मालूम कोई ऐसा
भी होता होगा..

IF YOU LIKED THE POSTS, CLICK HERE

Top Blogs
By-
Amit Tiwari 'Sangharsh', Swaraj T.V.

You Would Also Like To Read:

Reactions: 

6 Response to "ना मालूम कोई ऐसा भी होता होगा..."

  1. बहुत बढ़िया.

     

  2. कोई तो जरुर होगा ...आमीन ..!!

     

  3. KAVITA UMEED SE DUGNA H.
    SATIK AUR SARAL H.
    DIL KO CHHUNE WALI H.
    LAGTA H AAPKE BAAG MEIN MALI H.

    WRITER'S NAME WAS NOT MENTIONED.
    PLZ LET ME KNOW YOUR NAME
    RAMESH SACHDEVA
    hpsdabwali07@gmail.com

     

  4. बहुत ही बेहतरीन .....

     

  5. आचार्य रमेश जी,
    उत्साहवर्धन के लिए धन्यवाद्..

    यह मेरा ही प्रयास है.
    आप सबके आशीष का प्रार्थी रहूँगा..

     

  6. अच्छी कविता कर लेते हो.........
    लगे रहो........
    आशीष तो मिलता ही रहेगा....

     

चिट्ठी आई है...

व्‍यक्तिगत शिकायतों और सुझावों का स्वागत है
निर्माण संवाद के लेख E-mail द्वारा प्राप्‍त करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

सुधी पाठकों की टिप्पणियां



पाश ने कहा है कि -'इस दौर की सबसे बड़ी त्रासदी होगी, सपनों का मर जाना। यह पीढ़ी सपने देखना छोड़ रही है। एक याचक की छवि बनती दिखती है। स्‍वमेव-मृगेन्‍द्रता का भाव खत्‍म हो चुका है।'
****************************************** गूगल सर्च सुविधा उपलब्ध यहाँ उपलब्ध है: ****************************************** हिन्‍दी लिखना चाहते हैं, यहॉं आप हिन्‍दी में लिख सकते हैं..

*************************************** www.blogvani.com counter

Followers