Blog Archive

Bookmark Us!


समाजवादी पार्टी के महासचिव अमर सिंह ने कहा है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली सरकार से, उनकी पार्टी का समर्थन वापसी के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है. संप्रग सरकार के पिछले कार्यकाल में संकट के समय उनकी पार्टी ने समर्थन देकर बहुत भारी भूल की थी. अमर सिंह ने एक टी.वी. चैनल के साथ बातचीत में कहा:-"कांग्रेस ने बड़ी चतुराई से अपना काम निकाल लिया. हमारी पार्टी को मूर्खता की सजा मिली है. जिस संप्रग सरकार को सपा ने बचाया, आज उसी के नेतृत्व-कर्ता कांग्रेस की अध्यक्षा सोनिया जी के पास सपा नेताओं से मिलने का समय नहीं है." उन्होंने यह भी कहा कि बिहार में लालू चार सीटों पर सिमट कर रह गए, और रामविलास पूरी तरह से साफ हो गए.
ये जो कुछ भी है, वह सपा के दिल का दर्द है. और उसके अपने किये का परिणाम है. आखिर आज आप इतने दयनीय कैसे हो गए? क्या आपका और आपकी पार्टी का कद इतना छोटा हो गया कि आपको कोई महत्त्व ही नहीं दे रहा? आखिर क्यों मायावती के गैर जिम्मेदाराना शासन के बावजूद जनता ने सपा को मौका नहीं दिया?
पार्टी को समीक्षा की जरूरत है. आज सपा की ये हालत नहीं है कि वो मोलभाव करे. माननीय अमर जी सारी ताकत जनता की है, आमलोगों की है. वही आम लोग जिन्हें आप चूस कर फेंकते रहे अपनी सरकार के ज़माने में. काश आपने उस वक़्त कोई जमीनी और बुनियादी कदम उठाया होता, आम जनता के हित में, तो यह दुर्दिन न देखने पड़ते.
जे.पी. और लोहिया की विरासत के साथ जो खिलवाड़ आपने और लालू, पासवान ने किया है...जनता उसके लिए आपको माफ़ करे भी तो कैसे?
जल्दी ही आप सब भी कुकुरमुत्तों की तरह उग रही पार्टीयों की जमात में विलुप्त होते दिखाई देंगे..
वक़्त है, जनता को समझिये..क्योंकि जनता आपको समझ चुकी है. समाजवादी चरित्र को अपना मुख बनाइये, मुखौटा नहीं.....

IF YOU LIKED THE POSTS, CLICK HERE


Top Blogs
-Dileep Sharma, Swaraj T.V.

You Would Also Like To Read:

Reactions: 

4 Response to "जनता को समझिये..क्योंकि जनता आपको समझ चुकी है..."

  1. Anand Said,

    ji.....
    J.P. aur Lohiya ko to in logon ne hamesha becha hi hai..
    isi se to inka kharcha-pani chal raha hai.....
    lekin janta ab samajh gayi hai inke khel ko........

    sab thik hoga.....

     

  2. जनता को समझिये..क्योंकि जनता आपको समझ चुकी है.

    सही फरमाया बहुत ही उम्दा

     

  3. Rajesh Said,

    bahut hi behtreen lekh,,

    badhai..

     

  4. bahut kiye ho muslim tushtikaran, AMAR BABU.....
    Muslim samaj bhi samajh gaya hai apke dhakosalon ko....
    bach kar rahiye........

    janta apko samajh chuki hai...

    achchha aur prashansaniy lekh..

     

चिट्ठी आई है...

व्‍यक्तिगत शिकायतों और सुझावों का स्वागत है
निर्माण संवाद के लेख E-mail द्वारा प्राप्‍त करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

सुधी पाठकों की टिप्पणियां



पाश ने कहा है कि -'इस दौर की सबसे बड़ी त्रासदी होगी, सपनों का मर जाना। यह पीढ़ी सपने देखना छोड़ रही है। एक याचक की छवि बनती दिखती है। स्‍वमेव-मृगेन्‍द्रता का भाव खत्‍म हो चुका है।'
****************************************** गूगल सर्च सुविधा उपलब्ध यहाँ उपलब्ध है: ****************************************** हिन्‍दी लिखना चाहते हैं, यहॉं आप हिन्‍दी में लिख सकते हैं..

*************************************** www.blogvani.com counter

Followers